Allinoneclub Guide- Top 13 Search Engine Optimization Tips

Top 13 Search Engine Optimization Tips for Beginners

यदि आप एकदम new वेबमास्टर / ब्लॉगर हैं या आपके पास अभी तक Search Engine Optimization (SEO) के बारे में कोई सुराग नहीं है,की कैसे क्या करना है तो यह आपके लिए है हालांकि, अगर आप पहले से ही इस क्षेत्र में अनुभव कर चुके हैं, तो यह लेख आपको कुछ नया नहीं सिखाएगा। लेकिन इतने सारे नए वेबसाइट owners प्रत्येक दिन इंटरनेट पर प्रवेश करते हैं, इसलिए उन्हें शिक्षित करना जारी रखना और उन articles को प्रकाशित करना महत्वपूर्ण है, जो Google और अन्य Search Engines में उच्च रैंकिंग तक पहुंचने की कोशिश करते समय सबसे महत्वपूर्ण चीजों के बारे में जानना चाहते है। आईये उन्हें पढ़ते हैं।

Tip #1: Title Tag

Search Engine Optimization

Title Tag

  • Search Engine Optimization के संदर्भ में शीर्षक (Title) प्रायः सबसे अधिक उल्लेखित युक्तियों में से एक है। शीर्षक टैग (Title Tag) आपके पृष्ठ का शीर्षक है और परिणामों में Search Engine उपयोगकर्ताओं को Search Engine प्रदर्शित करेगा। सुनिश्चित करें कि आपके Title सटीक और अच्छी तरह से परिभाषित हो। साथ ही यह भी विचार करना सुनिश्चित करें कि शीर्षक टैग (Title Tag)  में किस कीवर्ड का उपयोग किया जाए, क्योंकि वे एसईओ (SEO) का एक महत्वपूर्ण पहलू हैं। बहुत अधिक कीवर्ड न डालें या इसे “खोजशब्द भराई” (keyword stuffing) के रूप में ध्वजांकित (flagged) किया जा सकता है और यह अच्छा नहीं है

Tip #2: Meta tags (keywords & description)

Search Engine Optimization

  • “keywords” meta tag महत्वपूर्ण था। फिर लोगों ने वहां कई खोजशब्दों को भरकर इसका प्रयोग करना शुरू कर दिया, यहां तक कि कुछ सामग्री से संबंधित नहीं होते । आजकल, अधिकांश खोज इंजन इस पर ध्यान नहीं देता है और आप भी यदि अपने SEO पर ज्यादा समय नहीं बिताना चाहते हैं तो आप भी यह कर सकते हैं। लेकिन अगर आप केवल कुछ अच्छी तरह से considered keywords डालते हैं, वहां अन्य खोज इंजन या बॉट्स भी हो सकते हैं, जो आज  भी उनका उपयोग करते हैं।
  • Search Engine Optimization के लिए अधिक महत्वपूर्ण टैग “विवरण” मेटा टैग (“description” meta tag) है यह आम तौर पर search results पृष्ठ पर आपके शीर्षक टैग (Title Tag) के अंतर्गत कौनसा खोज इंजन (search engine) प्रदर्शित करेगा। सुनिश्चित करें कि आप एक अच्छा और संक्षिप्त पाठ लिखते हैं जो पाठकों को अपनी साइट पर प्रवेश करने के लिए समझाएगा, लेकिन साथ ही मेटा विवरण में कुछ Relevant Keywords भी रखें। कभी-कभी खोज इंजन आपके मेटा विवरण के बजाय आपके पृष्ठ से पाठ का एक अलग स्निपेट का चयन कर सकता है, लेकिन सामान्य तौर पर वे Meta Description प्रदर्शित करेगा।

Tip #3: Header tags (H1, H2, H3)

Search Engine Optimization

  • Header tags का उपयोग आपके पृष्ठ पर शीर्षक (title) के लिए किया जाता है। सबसे बड़ा शीर्षक (biggest title), समग्र शीर्षक (Overall title) के लिए H1 (Heading 1) का उपयोग करें अपने पाठ को छोटे टुकड़ों में तोड़ने के लिए H2 (Heading 2) और H3 (Heading 3) के साथ उसी का उपयोग करें H1 आमतौर पर सबसे महत्वपूर्ण है, लेकिन यदि आप द्वारा H2 के लिए उपयोग किया गया है, तो सिर्फ एक शीर्षक बोल्ड बनाने के बजाय H2 का उपयोग करें बस अपने H2 टैग को style बनाने के लिए इसे बोल्ड करे।

Tip #4: Do Keyword Research

Search Engine Optimization

  • खोजशब्द अनुसंधान (Keyword Research) एसईओ (SEO) की सबसे महत्वपूर्ण गतिविधि में से एक है। खोजशब्द अनुसंधान महत्वपूर्ण है क्योंकि खोज इंजन (search engine) और उपयोगकर्ता  (users ) दोनों आपकी वेबसाइट को खोजने के लिए कीवर्ड (Keywords) पर निर्भर करते हैं। अपने ब्रांड ( Brand) और वेबसाइट (Website) के लिए सही कीवर्ड (keyword) चुनें। कई ऐडवर्ड्स और सॉफ्टवेयर जैसे Google Adword Keyword tool, Market Samurai, Long Tail Pro, Wordtracker, Bing – Keyword Research Tool, Keyword Spy, Semrush, Ahref आदि हैं, जिनका उपयोग आप अपनी वेबसाइट के लिए लाभदायक खोजशब्दों को खोजने के लिए कर सकते हैं।

ये जरूर देखे:SEO Tools-Top 5 Keyword Research Tools for increase page rank on google

Tip #5: Keyword Density

Search Engine Optimization

  • अपनी पोस्ट में कीवर्ड (keyword) का उपयोग करें। लेकिन उनका उपयोग स्वाभाविक (naturally) रूप से करें, जैसे हम बात करेंगे खोजशब्द घनत्व (Keyword density) की तो यह 2-4% के बीच होनी चाहिए इसका मतलब यह है कि यदि आप 800 शब्द का लेख लिख रहे हैं तो आपके कीवर्ड को प्रत्येक 100 शब्द के ब्लॉक या पेराग्राफ में 3-4 बार से अधिक दोहराया नहीं जाना चाहिए। यदि आपका कीवर्ड घनत्व (Density) 5% से अधिक है तो Google आपको penalize कर सकता है, जिससे आपकी ranking कम हो सकती है। इसलिए याद रखें कि आप अपने पाठकों के लिए लिख रहे हो न की खोज इंजन के लिए नहीं। तो कीवर्ड भरने से बचें।

Tip #6: Optimize Page Titles & Meta Description

Page Titles & Meta Description

  • आपकी वेबसाइट के प्रत्येक पृष्ठ पर एक अद्वितीय शीर्षक टैग (unique title tag) होना चाहिए और यह 70 वर्णों (characters) से कम होना चाहिए। इसी प्रकार आपकी पोस्ट का मेटा विवरण (Meta description) 150-160 वर्णों (characters) के बीच होना चाहिए। यह महत्वपूर्ण है क्योंकि खोज इंजन एक पोस्ट में सामग्री (content) को समझने के लिए मेटा विवरण (Meta description) पढ़ता है यदि आप WordPress CMS का उपयोग कर रहे हैं तो आप Yoast SEO Plugin का उपयोग कर सकते हैं जो आपको पृष्ठ एसईओ अनुकूलन (On Page SEO Optimization) में मदद करेगा।

Tip #6: Say No To Duplicate Content

Search Engine Optimization

  • आजकल बड़ी संख्या में bloggers अन्य वेबसाइटों के लेखों (articles) को छांट (scrapping) रहे हैं और सिर्फ अपने ब्लॉग पर पोस्ट कर रहे हैं बस ट्रैफिक प्राप्त करने के लिए। अधिकांश शुरुआती मूल लेखक (original author) को भी श्रेय नहीं दे रहे हैं लेकिन उन्हें नहीं पता है कि अपनी वेबसाइट पर डुप्लिकेट सामग्री पोस्ट करके वे Google और अन्य खोज इंजन के दिशानिर्देशों का उल्लंघन कर रहे हैं। डुप्लिकेट सामग्री ब्रांड को श्रेय देती है, उपयोगकर्ता पर नकारात्मक अनुभव पड़ता है और खोज इंजन रैंकिंग (search engine rankings) और डोमेन प्राधिकरण (domain authority) को प्रभावित करता है। इसलिए यदि आप खोज इंजन से अच्छा यातायात (Traffic) प्राप्त करना चाहते हैं तो केवल अपनी वेबसाइट पर अद्वितीय सामग्री(unique content ) प्रकाशित करें और कोई भी Content डुप्लिकेट न करें।

Tip #8: Create XML Sitemap

Search Engine Optimization

  • Sitemap आपकी संपूर्ण वेबसाइट के सभी URLs का मानचित्र है, जो क्रमिक क्रम(hierarchical order) में सूचीबद्ध होता  है। एक एक्सएमएल साइटमैप (XML Sitemap) को बनाने से आप अपने ब्लॉग को बेहतर इंडेक्स कराने के लिए खोज इंजनों को मदद कर सकते हैं। यदि आप WordPress का उपयोग कर रहे हैं तो आप अपने साइटमैप को बनाने के लिए Google XML साइटमैप का उपयोग कर सकते हैं।

Tip #9: Do Not Use Broken Links

Search Engine Optimization

  • Broken हुई या dead links के लिए अपनी वेबसाइट की जांच करें अगर आपकी वेबसाइट पर कई broken लिंक हैं तो SEO और आपकी वेबसाइट के लिए यह बुरा है क्योंकि यह सर्च इंजन (Search Engine) और साथ ही आपके पाठकों को नकारात्मकता (Negativity) देगा। खोज इंजन (search Engine) आपकी साइट को इंडेक्स (index) करने में सक्षम नहीं होगा और आपके पाठक आपकी वेबसाइट पर सामग्री नहीं पा सकेंगे। यदि आप वर्डप्रेस (WordPress) का उपयोग कर रहे हैं तो आप Broken Link Checker Plugin का उपयोग कर सकते हैं जो Broken Links के लिए आपकी वेबसाइटों की जांच करेगा।

Tip #10: Increase Backlinks

Search Engine Optimization

  • Backlinks सबसे महत्वपूर्ण कारक (Factor) है जो Search  Engine में किसी भी साइट की रैंकिंग को प्रभावित करता है। उच्च गुणवत्ता वाले Backlins की संख्या आपके ब्लॉग की उच्च विश्वसनीयता दर्शाती है और जिसे Search Engine रैंक करने के लिए मान्य होता है। इसलिए यदि आप अपनी वेबसाइट पर उच्च खोज इंजन रैंकिंग (higher search engine rankings ) और यातायात (traffic) हासिल करना चाहते हैं तो आपको अपनी वेबसाइट Backlinks बढ़ाने में अपना समय निवेश करना होगा। आप article submission, blog commenting, guest posting, directory submission और social media promotion करके आसानी से Backlinks बढ़ा सकते हैं।

Tip #11: Image Optimization

Search Engine Optimization

  • Search Engine Optimization के लिए छवि अनुकूलन (Image optimization ) ऑन-पेज एसईओ (On Page SEO) का सबसे महत्वपूर्ण कारक है एक तस्वीर 1000 शब्दों से भी अधिक महत्वपूर्ण है इसलिए अगर आप Google image search engine से ट्रैफिक प्राप्त करना चाहते हैं तो आपको ALT Tag में अपने कीवर्ड (Keyword) का उपयोग करके अपनी छवियों (Images) को अनुकूलित (Optimized) करना होगा। Image quality खोये बिना संभव करे की  फ़ाइल का आकार छोटा हो और अपनी छवियों का वर्णन (Description) और कैप्शन (Caption) भी जरूर दें।

Tip #12: Google Webmaster और Google Analytics

Image result for Google Webmaster & Google Analytics

  • प्रत्येक वेबमास्टर को Google Webmaster Tools और Google Analytics का उपयोग Search  Engine  Optimization के लिए करना चाहिए क्योंकि यह Website और Search  Engine में इसके प्रदर्शन को सुधारने में सहायता करता है। sitemap सबमिट करने और site links बनाने के लिए आप अपनी वेबसाइट पर 404s errors को ठीक करने, खराब लिंक को हटाने के लिए Google Webmaster Tools का उपयोग कर सकते हैं। आप यह भी देख सकते हैं कि, कौन सी साइटें आपकी साइट से जुड़ रही हैं और आपकी साइट किस साइट पर रैंकिंग कर रही है।
  • Google Analytics का इस्तेमाल आपकी साइट पर कितने आगंतुक (visitors)  कहा से आये और किस location से आये पता लगाने के लिए किया जा सकता है, आपकी वेबसाइट पर आने के लिए विज़िटर (visitors) द्वारा कौन से कीवर्ड (Keyword )का उपयोग किया गया था और वे किस पृष्ठ पर जाते हैं। आप अपनी वेबसाइट पर यातायात स्रोतों (traffic sources) और पाठकों के औसत (average) समय भी देख सकते हैं।

Tip #13: Create Robots.TXT

Search Engine Optimization

  • Robots.txt एक ऐसी फ़ाइल है जिसे वेब साइट की रूट डायरेक्टरी (Root directory) में रखा जाता जाता है। यह अनुक्रमण (Indexing) में मदद करता है और खोज इंजन को निर्देश देता है कि, वह कौन से पृष्ठ देख सकें और यह किन पृष्ठ को देख सकता है।
  • उदाहरण के लिए यदि आप अपनी Robots.txt फाइल में निर्दिष्ट (specify) करते हैं, तो आप खोज इंजन को अपने धन्यवाद पेज तक नहीं  पहुंचना चाहते हैं, तो उस पृष्ठ को खोज परिणामों में दिखाया नहीं जा सकता है और वेब उपयोगकर्ताओं को इसे खोजने में सक्षम नहीं होगा। आप अपनी वेबसाइट पर जा सकते हैं और जांच कर सकते हैं कि आपके पास एक robots.txt फ़ाइल है या नहीं, आपके डोमेन नाम (Domain Name) के तुरंत बाद /robots.txt को जोड़कर।
Double Bonus SEO Tip:
1. If you have money…
  • यदि आप स्वयं Search Engine Optimization (SEO) नहीं करना चाहते हैं या आप अपने अनुकूलन (optimization) में Search Engine Marketing सहित एक कदम आगे भी जाना चाहते हैं, तो आपके लिए यह करने के लिए एक सलाहकार (SEO consultant)  को किराया पूरी तरह संभव है। यह सस्ता नहीं है, लेकिन यह आपको कुछ समय बचाएगा कि आप सामग्री लिखने पर खर्च करना बेहतर कर सकते हैं या जो कुछ करना चाहते हैं वह आप अपनी साइट से करते हैं।
2. Website Speed…
  • क्या आप जानते हैं कि वेबसाइट की गति SEO को प्रभावित करती है Google के मुताबिक, आपकी वेबसाइट लोड तेजी से, अधिक समय के साथ समान साइटों की तुलना में उच्चतर रैंक (Higher Rank) होगा। अपने ब्लॉग को गति देने के लिए आप CDN Network (Content Delivery Network) जैसे कि CloudFlare, या MaxCDN का इस्तेमाल कर सकते हैं। आपको अपने ब्लॉग में W3 Total Cache प्लगइन इंस्टॉल करना होगा। यदि आपकी वेबसाइट में images अनुकूलित हैं तो आपकी वेबसाइट तेजी से लोड हो जाएगी। आप अपनी वेबसाइट की गति की जांच के लिए GTmetrix और Google PageSpeed Test  उपयोग कर सकते हैं।

मुझे आशा है कि आपको ये Search Engine Optimization Tips उपयोगी होंगी। कृपया अपने स्वयं के किसी भी Website Optimization Tips को साझा करने के लिए स्वतंत्र महसूस करें या जिनके लिए आपने सबसे अच्छा काम किया है

You may also like...

Leave a Reply

%d bloggers like this: